30+ Gulzar Shayari In Hindi | गुलज़ार शायरी हिंदी में

gulzar shayari in hindi, गुलज़ार शायरी, मैं हर रात सारी ख्वाहिशों को खुद से पहले सुला देता,
हूँ मगर रोज़ सुबह ये मुझसे पहले जाग जाती है।

"मैं हर रात सारी ख्वाहिशों को खुद से पहले सुला देता, हूँ मगर रोज़ सुबह ये मुझसे पहले जाग जाती है।"

Gulzar

gulzar shayari in hindi 2 lines, गुलज़ार शायरी इन हिंदी, आइना देख कर तसल्ली हुई, 
हम को इस घर में जानता है कोई।

"आइना देख कर तसल्ली हुई, हम को इस घर में जानता है कोई। "

Gulzar

gulzar shayari in hindi 2 lines on life, गुलज़ार शायरी हिंदी, वक़्त रहता नहीं कहीं टिक कर, 
आदत इस की भी आदमी सी है।

"वक़्त रहता नहीं कहीं टिक कर, आदत इस की भी आदमी सी है। "

Gulzar

New Daily Quotes

gulzar shayari in hindi love, गुलज़ार शायरी हिंदी में, ज़िंदगी यूँ हुई बसर तन्हा, 
क़ाफ़िला साथ और सफ़र तन्हा।

"ज़िंदगी यूँ हुई बसर तन्हा, क़ाफ़िला साथ और सफ़र तन्हा। "

Gulzar

gulzar shayari in hindi on life, गुलज़ार कोट्स, हम ने अक्सर तुम्हारी राहों में, 
रुक कर अपना ही इंतिज़ार किया।

"हम ने अक्सर तुम्हारी राहों में, रुक कर अपना ही इंतिज़ार किया।"

Gulzar

gulzar shayari in hindi images, गुलज़ार कोट्स इन हिंदी, आप के बाद हर घड़ी हम ने,
आप के साथ ही गुज़ारी है।

"आप के बाद हर घड़ी हम ने, आप के साथ ही गुज़ारी है।"

Gulzar

gulzar shayari in hindi sad, गुलज़ार कोट्स हिंदी में, बहुत अंदर तक जला देती हैं, 
वो शिकायते जो बया नहीं होती।

"बहुत अंदर तक जला देती हैं, वो शिकायते जो बया नहीं होती।"

Gulzar

gulzar shayari in hindi on friendship, गुलज़ार कोट्स हिंदी, मैंने दबी आवाज़ में पूछा? मुहब्बत करने लगी हो?
नज़रें झुका कर वो बोली! बहुत।

"मैंने दबी आवाज़ में पूछा? मुहब्बत करने लगी हो? नज़रें झुका कर वो बोली! बहुत।"

Gulzar

gulzar shayari in hindi 2 lines on love, गुलजार शायरी इमेज, कोई पुछ रहा हैं मुझसे मेरी जिंदगी की कीमत,
मुझे याद आ रहा है तेरा हल्के से मुस्कुराना।

"कोई पुछ रहा हैं मुझसे मेरी जिंदगी की कीमत, मुझे याद आ रहा है तेरा हल्के से मुस्कुराना।"

Gulzar

best gulzar shayari in hindi, गुलज़ार दर्द शायरी, मैं दिया हूँ! मेरी दुश्मनी तो सिर्फ अँधेरे से हैं, 
हवा तो बेवजह ही मेरे खिलाफ हैं।

"मैं दिया हूँ! मेरी दुश्मनी तो सिर्फ अँधेरे से हैं, हवा तो बेवजह ही मेरे खिलाफ हैं। "

Gulzar

sad gulzar shayari in hindi, गुलज़ार शायरी इन हिंदी sad, बिगड़ैल हैं ये यादे, 
देर रात को टहलने निकलती हैं।

"बिगड़ैल हैं ये यादे, देर रात को टहलने निकलती हैं। "

Gulzar

zindagi gulzar shayari in hindi, गुलजार के विचार, उसने कागज की कई कश्तिया पानी उतारी और, 
ये कह के बहा दी कि समन्दर में मिलेंगे।

"उसने कागज की कई कश्तिया पानी उतारी और, ये कह के बहा दी कि समन्दर में मिलेंगे। "

Gulzar

mohabbat gulzar shayari in hindi, गुलजार दोस्ती शायरी, कभी जिंदगी एक पल में गुजर जाती हैं, 
और कभी जिंदगी का एक पल नहीं गुजरता।

"कभी जिंदगी एक पल में गुजर जाती हैं, और कभी जिंदगी का एक पल नहीं गुजरता। "

Gulzar

romantic gulzar shayari in hindi, गुलज़ार शायरी इन हिंदी Love, हम तो अब याद भी नहीं करते,
आप को हिचकी लग गई कैसे?

"हम तो अब याद भी नहीं करते, आप को हिचकी लग गई कैसे? "

Gulzar

2 line gulzar shayari in hindi, गुलज़ार शायरी इन हिंदी २ लाइन्स, रोई है किसी छत पे, अकेले ही में घुटकर,
उतरी जो लबों पर तो वो नमकीन थी बारिश।

"रोई है किसी छत पे, अकेले ही में घुटकर, उतरी जो लबों पर तो वो नमकीन थी बारिश। "

Gulzar

दिल अगर हैं तो दर्द भी होंगा, इसका शायद कोई हल नहीं हैं।

Gulzar

तेरे जाने से तो कुछ बदला नहीं, रात भी आयी और चाँद भी था, मगर नींद नहीं।

Gulzar

वो चीज़ जिसे दिल कहते हैं, हम भूल गए हैं रख के कहीं।

Gulzar

कुछ बातें तब तक समझ में नहीं आती, जब तक ख़ुद पर ना गुजरे।

Gulzar

हम तो समझे थे कि हम भूल गए हैं उनको, क्या हुआ आज ये किस बात पे रोना आया?

Gulzar

बेहिसाब हसरते ना पालिये, जो मिला हैं उसे सम्भालिये।

Gulzar

शोर की तो उम्र होती हैं, ख़ामोशी तो सदाबहार होती हैं।

Gulzar

किसी पर मर जाने से होती हैं मोहब्बत, इश्क जिंदा लोगों के बस का नहीं।

Gulzar

कौन कहता हैं कि हम झूठ नहीं बोलते, एक बार खैरियत तो पूछ के देखियें।

Gulzar

तकलीफ़ ख़ुद की कम हो गयी, जब अपनों से उम्मीद कम हो गईं।

Gulzar

कैसे करें हम ख़ुद को तेरे प्यार के काबिल, जब हम बदलते हैं, तुम शर्ते बदल देते हो।

Gulzar

सीने में धड़कता जो हिस्सा हैं, उसी का तो ये सारा किस्सा हैं।

Gulzar

सहमा सहमा डरा सा रहता है, जाने क्यूं जी भरा सा रहता है।

Gulzar

एक ही ख़्वाब ने सारी रात जगाया है, मैं ने हर करवट सोने की कोशिश की।

Gulzar

ख़ुशबू जैसे लोग मिले अफ़्साने में, एक पुराना ख़त खोला अनजाने में।

Gulzar

Read More